विधायक विजय मिश्रा पर विवेचना भदोही से बदलने को लेकर महिला ग्राम प्रधान के लेटर पैड का दुरूपयोग करने के मामले की पुलिस जांच शुरू

0
37

भदोही (ज़मीनी सच)- उत्तर प्रदेश के भदोही में निषाद पार्टी से विधायक विजय मिश्रा अब एक नई मुसीबत में घिरते नज़र आ रहे है ,पुलिस के मुताबिक उनके और पत्नी सहित बेटे पर चार अगस्त को दर्ज मुकदमे की विवेचना को भदोही जिले से  बदल कर कही और से कराने के लिए महिला ग्राम प्रधान के लेटर पैड का दुरूपयोग करने का मामला सामने आने के बाद जांच शुरू हो गई है। पुलिस अधीक्षक राम बदन सिंह ने आज बताया की राज्य मानव अधिकार आयोग के सदस्य ओ.पी. दीक्षित में अपर पुलिस महिनेदशक वाराणसी को  भेजे गए पत्र में कहा गया है की  कौलापुर गाँव की प्रधान श्रीमती उषा मिश्रा ने कहा है की  विजय मिश्रा और उनके परिवार पर उनके रिश्तेदार द्वारा चार अगस्त को दर्ज कराये  गए मुकदमे की विवेचना भदोही जिले में निष्पक्ष नहीं होगी इस लिए इसे स्थानांतरित कर दिया जाए। इस लिए विवेचना किसी अन्य जिले से कराया जाए। इस बात की जानकारी जब भदोही पुलिस को मिली तो उसने महिला ग्राम प्रधान से संपर्क से किया। उन्होंने बताया ग्राम प्रधान उषा मिश्रा ने इससे साफ़ इंकार दिया।  पुलिस अधीक्षक ने बताया की महिला ग्राम प्रधान श्रीमती उषा मिश्रा ने  राज्य मानवाधिकार आयोग सहित अपर मुख्य सचिव {गृह } पुलिस महानिदेशक उत्तर प्रदेश और अपर पुलिस महानिदेशक सहित भदोही पुलिस अधीक्षक राम बदन सिंह को एक पत्र देकर कहा है की पूर्व में विधायक विजय मिश्रा ने गाँव की  {बिजली ,पानी सड़क } समस्या के निराकरण के लिए हमसे सादा लेटर पैड लिया था जिसका वह इस मामले में दुरूपयोग कर रहे है। उषा मिश्रा ने अधिकारीयों को प्रेषित  पत्र में लिखा है की वह ना तो इस सम्बन्ध में लखनऊ गई और ना ही उन्होंने मुकदमे की विवेचना को स्थानान्तरण के लिए कोई पत्र राज्य मानवाधिकार आयोग को लिखा है। महिला प्रधान ने इस दुरूपयोग की जांच कर आवश्यक कदम उठाने की मांग की है। भदोही पुलिस अधीक्षक राम बदन सिंह ने बताया की प्रधान मिश्रा का एक पत्र प्राप्त हुआ है जिसकी दुरूपयोग की जांच कर जो भी ज़रूरी विधिक कार्रवाई होगी वह की जाएगी  कार्रवाई की जाएगी। जिले की ज्ञानपुर सीट से निषाद पार्टी के विधायक विजय मिश्रा ,उनकी पत्नी और बेटे विष्णु मिश्रा पर उनके रिश्तेदार कृष्ण मोहन तिवारी ने चार अगस्त को धारा 323,506.449,347,387 में मुकदमा दर्ज कराया है इसी मामले को वापस लेने के लिए घर में घुस कर धमकाने पर विजय मिश्रा की बेटी सीमा मिश्रा सहित सात लोगों पर भी केस दर्ज किया जा चुका है। फिलहाल विजय मिश्रा इस वक़्त चित्रकूट जेल में बंद हो और उनकी पत्नी और बेटा अभी पुलिस की पकड़ से बाहर है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here